Free Download Full Hanuman Chalisa PDF In Hindi 2024 – हनुमान चालीसा

Share this article :

यदि आप Full Hanuman Chalisa PDF मुफ्त में डाउनलोड करना चाहते हैं तो आप नीचे दिए गए लिंक से Full Hanuman Chalisa PDF डाउनलोड करके पढ़ सकते हैं।

Hanuman Chalisa क्या है?

Hanuman Chalisa एक भक्ति छंद है। इस भक्ति श्लोक को पढ़कर आप अपनी मनोकामना पूरी कर सकते हैं। आप Full Hanuman Chalisa PDF हमारी वेबसाइट PDFKro.com से डाउनलोड कर सकते हैं जिसका लिंक नीचे दिया गया है।

साथ ही आप नीचे दिए गए आर्टिकल से जान सकते हैं कि Hanuman Chalisa का पाठ कैसे करें और हनुमान चालीसा का पाठ करने से क्या फायदे होते हैं। और अगर आपके पास Hanuman Chalisa के बारे में कोई प्रश्न है तो आप नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में अपना कमेंट लिख सकते हैं, धन्यवाद

ये भी पढ़ें : Hanuman Sathika Odia

Pdf NameHanuman Chalisa PDF
Pdf Size0.33
Pdf CategoryReligion and Spirituality
No Of Pages7
LanguageHindi
Source/CreditMultiple Sources
Last Updated1 Day Ago
Uploaded BySumit
Full Hanuman Chalisa Pdf Information

दोहा

श्रीगुरु चरन सरोज रज निज मनु मुकुरु सुधारि ।

बरनउँ रघुबर बिमल जसु जो दायकु फल चारि ॥

बुद्धिहीन तनु जानिके, सुमिरौं पवन कुमार

बल बुधि विद्या देहु मोहि, हरहु कलेश विकार

चौपाई

जय हनुमान ज्ञान गुन सागर

जय कपीस तिहुँ लोक उजागर॥१॥

राम दूत अतुलित बल धामा

अंजनि पुत्र पवनसुत नामा॥२॥

महाबीर बिक्रम बजरंगी

कुमति निवार सुमति के संगी॥३॥

कंचन बरन बिराज सुबेसा

कानन कुंडल कुँचित केसा॥४॥

हाथ बज्र अरु ध्वजा बिराजे

काँधे मूँज जनेऊ साजे॥५॥

शंकर सुवन केसरी नंदन

तेज प्रताप महा जगवंदन॥६॥

विद्यावान गुनी अति चातुर

राम काज करिबे को आतुर॥७॥

प्रभु चरित्र सुनिबे को रसिया

राम लखन सीता मनबसिया॥८॥

सूक्ष्म रूप धरि सियहि दिखावा

विकट रूप धरि लंक जरावा॥९॥

भीम रूप धरि असुर सँहारे

रामचंद्र के काज सवाँरे॥१०॥

लाय सजीवन लखन जियाए

श्री रघुबीर हरषि उर लाए॥११॥

रघुपति कीन्ही बहुत बड़ाई

तुम मम प्रिय भरत-हि सम भाई॥१२॥

सहस बदन तुम्हरो जस गावै

अस कहि श्रीपति कंठ लगावै॥१३॥

सनकादिक ब्रह्मादि मुनीसा

नारद सारद सहित अहीसा॥१४॥

जम कुबेर दिगपाल जहाँ ते

कवि कोविद कहि सके कहाँ ते॥१५॥

तुम उपकार सुग्रीवहि कीन्हा

राम मिलाय राज पद दीन्हा॥१६॥

तुम्हरो मंत्र बिभीषण माना

लंकेश्वर भये सब जग जाना॥१७॥

जुग सहस्त्र जोजन पर भानू

लिल्यो ताहि मधुर फ़ल जानू॥१८॥

प्रभु मुद्रिका मेलि मुख माही

जलधि लाँघि गए अचरज नाही॥१९॥

दुर्गम काज जगत के जेते

सुगम अनुग्रह तुम्हरे तेते॥२०॥

राम दुआरे तुम रखवारे

होत ना आज्ञा बिनु पैसारे॥२१॥

सब सुख लहैं तुम्हारी सरना

तुम रक्षक काहु को डरना॥२२॥

आपन तेज सम्हारो आपै

तीनों लोक हाँक तै कापै॥२३॥

भूत पिशाच निकट नहि आवै

महावीर जब नाम सुनावै॥२४॥

नासै रोग हरे सब पीरा

जपत निरंतर हनुमत बीरा॥२५॥

संकट तै हनुमान छुडा

वैमन क्रम वचन ध्यान जो लावै॥२६॥

सब पर राम तपस्वी राजा

तिनके काज सकल तुम साजा॥२७॥

और मनोरथ जो कोई लावै

सोई अमित जीवन फल पावै॥२८॥

चारों जुग परताप तुम्हारा

है परसिद्ध जगत उजियारा॥२९॥

साधु संत के तुम रखवारे

असुर निकंदन राम दुलारे॥३०॥

अष्ट सिद्धि नौ निधि के दाता

अस बर दीन जानकी माता॥३१॥

राम रसायन तुम्हरे पासा

सदा रहो रघुपति के दासा॥३२॥

तुम्हरे भजन राम को पावै

जनम जनम के दुख बिसरावै॥३३॥

अंतकाल रघुवरपुर जाई

जहाँ जन्म हरिभक्त कहाई॥३४॥

और देवता चित्त ना धरई

हनुमत सेई सर्व सुख करई॥३५॥

संकट कटै मिटै सब पीरा

जो सुमिरै हनुमत बलबीरा॥३६॥

जै जै जै हनुमान गुसाईँ

कृपा करहु गुरु देव की नाई॥३७॥

जो सत बार पाठ कर कोई

छूटहि बंदि महा सुख होई॥३८॥

जो यह पढ़े हनुमान चालीसा

होय सिद्ध साखी गौरीसा॥३९॥

तुलसीदास सदा

हरि चेरा

कीजै नाथ हृदय मह डेरा॥४०॥

दोहा

पवन तनय संकट हरन, मंगल मूरति रूप।

राम लखन सीता सहित, हृदय बसहु सुर भूप॥

Download Full Hanuman Chalisa PDF

हनुमान चालीसा क्यों पढ़ना चाहिए?- Full Hanuman Chalisa PDF

हनुमानजी हमारे कलियुग के एकमात्र जागृत देवता हैं। हनुमानजी की कृपा से सभी संकट और खतरे बहुत आसानी से दूर हो जाते हैं। अगर आप हनुमानजी की कृपा पाना चाहते हैं तो प्रतिदिन Hanuman Chalisa का पाठ करके आप आसानी से हनुमानजी की कृपा पा सकते हैं।

उद्दीन Hanuman Chalisa का पाठ करने से व्यक्ति के जीवन में कई लाभ होते हैं। हनुमान चालीसा पढ़ने का सबसे पहला लाभ तो यह है कि Hanuman Chalisa शनिजी के प्रभाव को कम कर देती है।

शनिदेव की टेढ़ी नजर से बचने के लिए Hanuman Chalisa का पाठ करने का कोई विकल्प नहीं है।ऐसा कहा जाता है कि हनुमान भक्त शनिदेव के प्रकोप के करीब भी नहीं पहुंच पाते।

Full Hanuman Chalisa PDF
Full Hanuman Chalisa PDF

जिन लोगों की कुंडली में शनि के कारण लगातार परेशानियां बनी रहती हैं उन्हें जीवन में शांति और समृद्धि के लिए शनिवार के दिन विशेष रूप से Hanuman Chalisa का पाठ करना चाहिए।

दूसरा लाभ Hanuman Chalisa बुरी आत्माओं को दूर करती है। अगर आपको लगता है कि आपके जीवन पर किसी भूत-प्रेत का प्रभाव है तो हनुमान चालीसा पाठ का कोई विकल्प नहीं है।

ऐसा माना जाता है कि अगर आपको रात को सोते समय घबराहट होती है तो आपको हर रात सोने से पहले कम से कम एक बार Hanuman Chalisa का पाठ करना चाहिए।

मुझे अपने तकिए के नीचे हनुमान चालीसा रखकर सोना चाहिए, इससे मुझे बुरे विचारों और बुरे सपनों से छुटकारा मिलेगा यह बुरी आत्माओं को आपके जीवन से दूर रखेगा।

तीसरा लाभ Hanuman Chalisa अपने कर्मों के लिए क्षमा मांगना हममें से कई लोग जानबूझकर या अनजाने में, जाने-अनजाने में पाप करते हैं। हिंदू धर्मग्रंथों के अनुसार पाप के कारण ही हम जन्म और मृत्यु के चक्र में फंसे हुए हैं।

हनुमान चालीसा पढ़ने से वर्तमान जन्म के पाप कर्मों से छुटकारा मिलता है। इसलिए हमें अपने जीवन के पापों के निवारण के लिए प्रतिदिन Hanuman Chalisa का पाठ करना चाहिए।

बाधाओं या संकटों को दूर करने के लिए चौथा लाभ है Hanuman Chalisa। यह हनुमान चालीसा का एक मुख्य और एक लाभ है। हनुमानजी का दूसरा नाम संकटमोचन भी है।

जब भी किसी भक्त पर कोई संकट आता है तो वह हनुमान चालीसा का पाठ कंठस्थ कर ले तो उसका संकट बहुत ही आसानी से दूर हो जाता है। हनुमान चालीसा का 38वां अध्याय कहता है

“जो सत बार पाठ कर कोई

छूटहि बंदि महा सुख होई”

इसका मतलब है कि इस Hanuman Chalisa का एक सौ बार पाठ करें, उसके सभी बंधन मुक्त हो जाएंगे और उसके जीवन में अपार खुशियां आएंगी। यानी उसके जीवन में आने वाली बाधाएं बहुत आसानी से दूर हो जाएंगी और किसी भी काम में सफलता बहुत आसानी से मिलेगी।

पांचवां लाभ यह है कि Hanuman Chalisa मानसिक तनाव से मुक्ति दिलाती है। अगर आप रोज सुबह उठकर हनुमान चालीसा का पाठ करते हैं तो आपका दिन तनाव मुक्त रहेगा और बहुत आसानी से बीतेगा।

Hanuman Chalisa नकारात्मक या नकारात्मक सोच को दूर करती है। क्या आप बहुत नकारात्मक हैं या नकारात्मक सोच से ग्रस्त हैं? तो फिर आपको अपनी दिनचर्या में थोड़ा बदलाव करना होगा।

सुबह कम से कम एक बार हनुमान चालीसा का पाठ करने के नियम का पालन करके सुबह अखबारों से दूर रहें। हिंदी में Full Hanuman Chalisa PDF हमारी वेबसाइट (PDFKro.com) पर मिल जाएगी, यहां से डाउनलोड करके आप हनुमान चालीसा का पाठ कर सकते हैं।

हनुमान चालीसा का पाठ करने के बाद आपको ध्यान अवश्य करना चाहिए ध्यान के दौरान आपको सकारात्मक विचार अवश्य सोचने चाहिए।

आप सोचेंगे कि आप बहुत अच्छे हैं और आपके आने वाले दिन बहुत अच्छे से गुजरेंगे। अपने दिन की शुरुआत और अंत Hanuman Chalisa से करें और आप देखेंगे कि जल्द ही आपके जीवन से नकारात्मक विचार दूर हो जाएंगे।

अगला लाभ सुरक्षित यात्रा के लिए Hanuman Chalisa का पाठ करना है। यह व्यापक रूप से माना जाता है कि भगवान श्री हनुमान दुर्घटनाओं को दूर करने और यात्रियों का साथ देने में हनुमानजी की मदद करते हैं।

यदि आप किसी भी यात्रा से पहले हनुमान चालीसा का पाठ करते हैं या आपके पास Hanuman Chalisa है तो आपकी यात्रा सुगम और सुरक्षित होगी।

ऐसा माना जाता है कि अगर कोई हनुमान चालीसा की इन 40 चौपाइयों का ध्यानपूर्वक पाठ करता है, तो उसकी सभी बाधाएं दूर हो जाएंगी और उसके मन में सभी सकारात्मक पहलू जल्द ही भर जाएंगे।

ज्ञान और शक्ति प्राप्त करने के लिए Hanuman Chalisa का अगला लाभ। हनुमान चालीसा का अर्थ और भक्तिपूर्वक पाठ करने से आपके चारों ओर इतनी सकारात्मक ऊर्जा पैदा हो जाएगी कि

आप पूरे दिन बहुत जीवंत महसूस करेंगे। यह आपके आलस्य, टालमटोल जैसे नकारात्मक पहलुओं को दूर करने के साथ-साथ आपको पूरे दिन सक्रिय और कुशल बनाता है।

आध्यात्मिक ज्ञान प्राप्त करने के लिए हनुमान चालीसा। यह सच है कि यदि आप प्रतिदिन नियमित रूप से हनुमान चालीसा का पाठ करते हैं तो आप अपने जीवन में

आध्यात्मिक परिवर्तन का अनुभव करेंगे और अपने जीवन में आध्यात्मिक ज्ञान प्राप्त करेंगे। यह सच है कि जो लोग आध्यात्म के मार्ग पर चलते हैं उन्हें हनुमानजी की कृपा जल्दी प्राप्त होती है।

Hanuman Chalisa का प्रयोग किसी व्यक्ति के चरित्र या व्यक्तित्व को सुधारने के लिए भी किया जाता है। जो लोग बुरी संगत में हैं या अपमानजनक आदतें अपना चुके हैं और उन अपमानजनक आदतों से छुटकारा पाना चाहते हैं,

इस हनुमान चालीसा का पाठ करने से उनके चरित्र या व्यक्तित्व को सही करने में मदद मिलती है। हनुमान चालीसा से निकलने वाली ऊर्जा इन भक्तों के दिलों को सकारात्मकता या धार्मिक ऊर्जा से भरने में मदद करती है।

प्रतिदिन Hanuman Chalisa का पाठ करने से आपके व्यापार में बहुत तेजी से सुधार होगा। अगर आप व्यापारी हैं तो आपको रोजाना कम से कम एक बार हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहिए।

जीवन में किसी भी बुरे अनुभव से छुटकारा पाने के लिए हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहिए। इन फायदों के अलावा हनुमान चालीसा के और भी कई फायदे हैं जिन्हें इस लेख में लिखना संभव नहीं है।

हनुमान चालीसा पढ़ने के कुछ महत्वपूर्ण नियम – Full Hanuman Chalisa PDF In Hindi

Hanuman Chalisa का पाठ कोई भी कर सकता है लेकिन पाठ करने के कुछ विशेष नियम हैं अगर हम इन नियमों का पालन करें तो हमें पूर्ण फल प्राप्त हो सकता है।

हनुमानजी को प्रसन्न करने का सबसे आसान तरीका है हनुमान चालीसा का पाठ करना। आप प्रतिदिन एक पाठ कर सकते हैं यदि आपके पास समय नहीं है तो मंगलवार को भी पढ़ें और शनि ग्रह वाले जातक शनिवार को भी इसे पढ़ें।

Hanuman Chalisa का पाठ करने का सही समय सूर्योदय से पहले ब्रह्ममुहूर्त है यानी सुबह सूर्योदय से पहले चार से पांच बजे के बीच। इस समय पाठ करने से उचित फल या लाभ मिलता है।

इसके अलावा दिन के किसी भी समय हनुमान चालीसा का पाठ करने से भी आपको फल मिलेगा लेकिन अगर आप इसे इस ब्रह्म क्षण में यानी सूर्योदय से पहले पढ़ सकते हैं तो इस समय सब कुछ शांत है इसलिए आपका मन जुड़ा हुआ है।

हनुमान चालीसा का पाठ करते समय आपको किसी अच्छी जगह पर बैठना चाहिए और बैठने से पहले उस जगह को अच्छी तरह साफ कर लें। हनुमान चालीसा का पाठ उत्तर या पूर्व दिशा की ओर मुख करके करना चाहिए।

आप अपने पूजा घर में बैठकर भी हनुमान चालीसा का पाठ कर सकते हैं। याद रखें कि Hanuman Chalisa का पाठ हर बार नहाकर करें,

आप इसे सुबह भी कर सकते हैं और शाम को भी लेकिन हर बार जब आप इसका पाठ करें तो आपको स्नान करना होगा शुद्ध होने के बाद साफ कपड़े पहनते हैं, लेकिन कई लोग तौलिए से हनुमान चालीसा पढ़ते हैं, जो कि बिल्कुल गलत नियम है।

Hanuman Chalisa का पाठ लाल रंग की धोती पहनकर और हनुमानजी की मूर्ति के सामने लाल रंग के आसन पर बैठकर ही करना चाहिए। हनुमान चालीसा का पाठ करते समय हनुमान चालीसा का उच्चारण तभी करें जब आप उसका स्पष्ट उच्चारण करें और उसका अर्थ समझें।

याद रखें कि आप जितनी धीमी गति से मन से हनुमान चालीसा का पाठ करेंगे, उतनी ही जल्दी आपका मन से संबंध पूरा होगा।

जल्दबाजी में हनुमान चालीसा का पाठ न करें। इस दिन शाकाहारी भोजन करें, फर्श पर सोएं, मछली, मांस, अंडे, प्याज, लहसुन, इन्हें न छुएं और शराब का सेवन न करें।

एक बार हनुमान चालीसा का पाठ करने के बाद आप इसे लगातार 21 सप्ताह तक करेंगे। इस चालीसा का पाठ करते समय संशय में न रहें। पाठ समाप्त होने तक किसी अन्य से बात न करें।

हनुमानजी की कृपा से हमारे सभी प्रकार के मनोरथ पूर्ण होते हैं और खतरों व संकटों से रक्षा होती है। वह हमारे जीवन में अचानक होने वाली दुर्घटनाओं से भी हमारी रक्षा करते हैं।

दोस्तों हनुमान चालीसा का पाठ करने से हनुमानजी की असीम कृपा प्राप्त होती है।

दिन में कितनी बार करें हनुमान चालीसा का पाठ?

38वें चौपाये में हनुमान चालीसा लिखी हुई है

जो सत बार पाठ कर कोई

छूटहि बंदि महा सुख होई॥३८॥

अर्थात् यहां वह कहते हैं कि Hanuman Chalisa का 100 बार पाठ करें लेकिन हमारे दैनिक जीवन में हनुमान चालीसा का 100 बार पाठ करना लगभग असंभव है।

उस स्थिति में हमें क्या करना चाहिए? हमारी हनुमान चालीसा का पाठ कितनी बार करें?

इस मामले पर अलग-अलग विद्वानों ने अलग-अलग आंकड़े बताए हैं. कुछ कहते हैं 21 बार, कुछ कहते हैं 11 बार, कुछ कहते हैं सात बार, कुछ कहते हैं तीन बार, और कुछ कहते हैं दिन में एक बार ही काफी है।

लेकिन वास्तविकता यह है कि आप जितनी बार चाहें पढ़ाई कर सकते हैं। लेकिन चाहे आप इसे कितनी भी बार पढ़ें आपको इसे ध्यान से पढ़ना होगा अन्यथा इसका कोई फायदा नहीं होगा।

हनुमान चालीसा का पाठ कब करना चाहिए?

आप अपनी सुविधानुसार जब चाहें तब पढ़ सकते हैं। कई लोग काम पर जाने से पहले सुबह नहाकर हनुमान चालीसा का पाठ करते हैं और कई लोग काम से लौटने के बाद स्नान करके हनुमान चालीसा का पाठ करते हैं।

कई लोग रात को सोने से पहले हनुमान चालीसा का पाठ करते हैं। लेकिन सुबह Hanuman Chalisa का पाठ करने का एक फायदा यह है कि

अगर आप सुबह स्नान के बाद 4 से 5 बजे के बीच हनुमान चालीसा का पाठ कर सकते हैं तो आपका मन शांत होता है और आप मन से जुड़कर हनुमान चालीसा का पाठ कर सकते हैं।

आप चाहे किसी भी समय पढ़ें, एक बात का ध्यान रखें कि हर दिन आप उसी समय पढ़ें। यदि आप लगातार 21 सप्ताह तक हनुमान चालीसा का पाठ करते हैं तो हनुमानजी आपकी भक्ति से प्रसन्न होंगे

और आपके जीवन की सभी इच्छाएं पूरी हो जाएंगी और आप विभिन्न खतरों और संकटों से मुक्त हो जाएंगे

Full Hanuman Chalisa PDF In Hindi : DOWNLOAD

FAQ:

100 बार हनुमान चालीसा कैसे पढ़े?

हनुमान चालीसा के 38वें श्लोक में लिखा है कि आपको हनुमान चालीसा का कम से कम 100 बार पाठ करना चाहिए। लेकिन यह हर व्यक्ति के लिए संभव नहीं है. तो आप अपनी सुविधा के अनुसार 1 बार या 3 बार या 7 बार या 11 बार पढ़ सकते हैं।

100 बार हनुमान चालीसा पढ़ने में कितना टाइम लगता है?

एक आम आदमी के लिए हनुमान चालीसा का 100 बार पाठ करना लगभग असंभव है। लेकिन अगर आपके मन में हनुमानजी के प्रति अगाध श्रद्धा है तो आप कुछ ही घंटों में 100 बार हनुमान चालीसा का पाठ कर सकते हैं।

1 दिन में कितनी बार हनुमान चालीसा पढ़नी चाहिए?

आप दिन में जितनी बार चाहें हनुमान चालीसा का पाठ कर सकते हैं। अपनी सुविधा के अनुसार जितनी बार चाहें उतनी बार पाठ करें, लेकिन जितनी बार भी पाठ करें, श्रद्धापूर्वक करें। चाहे एक बार हो या तीन बार या सात बार

हनुमान चालीसा कब नहीं पढ़ना चाहिए?

हनुमान चालीसा का पाठ करने के लिए कोई समय सीमा नहीं है आप जब चाहें तब हनुमान चालीसा का पाठ कर सकते हैं लेकिन, आप गंदे कपड़े पहनकर, स्नान न करके या शराब के साथ मांसाहारी भोजन करके हनुमान चालीसा का पाठ नहीं कर सकते हैं

हनुमान चालीसा सुबह कितने बजे पढ़ना चाहिए?

यदि आप सुबह चार से पांच बजे के बीच हनुमान चालीसा का पाठ कर सकते हैं तो इस समय सब कुछ शांत होता है यानी इस समय आपका मन अधिक जुड़ा होता है और भगवान श्री हनुमान जी और भी प्रसन्न हो जाते हैं

Also Download : Laxmi Chalisa PDF Hindi 2023

Also Download : Ganesh Chalisa Pdf Hindi

Also Download : Jai Hanuman Chalisa PDF


Share this article :

Leave a Comment